Baadalon Mein Chup Raha Hai Lyrics

Baadalon Mein Chup Raha Hai Lyrics from ( Phir Teri Kahani Yaad Aayee ) Movie (1993) Song Sung by Alka Yagnik, Kumar Sanu. this Song Music given by Anu Malik. Baadalon Mein Chup Raha Hai Song lyrics by Qateel Shifai. this Song Video Actor by Pooja Bhatt, Rahul Roy, Pooja Bedi and this Video Song is Label by Tips Cassettes & Recording Co.

Baadalon Mein Chup Raha Hai Lyrics

Song Credits:

Movie:   Phir Teri Kahani Yaad Aayee (1993)
Song:    Baadalon Mein Chup Raha Hai
Singer:  Alka Yagnik, Kumar Sanu
Music:   Anu Malik
Lyrics:   Qateel Shifai
Cast:     Pooja Bhatt, Rahul Roy, Pooja Bedi
Label:   Tips Cassettes & Recording Co

Baadalon Mein Chup Lyrics

Aha, aha, mm hm hm hm hm hm
Hey, ha ha, ha ha
Baadalo mein chhup
Raha hai chaand kyun
Apane husn ki jaya se puchh lo
Chaandani padi huyi hai maand kyun
Apane hi kisi ada se puchh lo

Baadalo mein chhup
Raha hai chaand kyun
Apane husn ki jaya se puchh lo
Chaandani padi
Huyi hai maand kyun
Apane hi kisi ada se puchh lo

Meri hasrato pe
Bekhudi si chha gayi
Tumako dekhkar
Nigaah ladkhada gayi
Meri hasrato pe
Bekhudi si chha gayi
Tumako dekhkar
Nigaah ladkhada gayi
Nigaah ladkhada gayi
Nigaah ladkhada gayi
Nigaah ladkhada gayi

Ho raha hoon main
Nashe mein chur kyun
Jhoomati huyi faja se puchh lo
Ho raha hai bin piye yeh surur kyun
Meri julf ki ghata se puchh lo
Baadalo mein chhup
Raha hai chaand kyun
Apane husn ki jaya se puchh lo
Chaandani padi huyi hai maand kyun
Apane hi kisi ada se puchh lo

Door mujhse gham hai
Aur khushi karib hai
Aaj meraa pyaar
Kitna khushnaseeb hai
Door mujhse gham hai
Aur khushi karib hai
Aaj meraa pyaar
Kitna khushnaseeb hai
Kitna khushnaseeb hai
Kitna khushnaseeb hai
Kitna khushnaseeb hai

Jhumata hai meraa ang ang kyun
Apani ruh ki sada se puchh lo
Baj rahe hai dil mein jal tarang kyun
Geet chhedati hawa se puchh lo
Baadalo mein chhup
Raha hai chaand kyun
Hmm apane husn ki
Jaya se puchh lo
Chaandani padi huyi
Hai maand kyun
Apane hi kisi ada se puchh lo.

अहा
हे
बादलों में छुप
रहा है चाँद क्यूँ
अपने हुस्न की जय से पूछ लो
चाँदनी पड़ी हुयी है मांड क्यूँ
अपने ही किसी ऐडा से पूछ लो

बादलों में छुप
रहा है चाँद क्यूँ
अपने हुस्न की जय से पूछ लो
चाँदनी पड़ी
हुयी है मांड क्यूँ
अपने ही किसी ऐडा से पूछ लो

मेरी हसरतो पे
बेखुदी सी छा गयी
तुमको देखकर
निगाह लड़खड़ा गयी
मेरी हसरतो पे
बेखुदी सी छा गयी
तुमको देखकर
निगाह लड़खड़ा गयी
निगाह लड़खड़ा गयी
निगाह लड़खड़ा गयी
निगाह लड़खड़ा गयी

हो रहा हूँ मैं
नशे में चूर क्यूँ
झूमती हुयी फजा से पूछ लो
हो रहा है बिन पिए यह सुरूर क्यों
मेरी जुल्फ़ की घटा से पूछ लो
बादलों में छुप
रहा है चाँद क्यूँ
अपने हुस्न की जय से पूछ लो
चाँदनी पड़ी हुयी है मांड क्यूँ
अपने ही किसी ऐडा से पूछ लो

दूर मुझसे ग़म है
और ख़ुशी करीब है
आज मेरा प्यार
कितना खुशनसीब है
दूर मुझसे ग़म है
और ख़ुशी करीब है
आज मेरा प्यार
कितना खुशनसीब है
कितना खुशनसीब है
कितना खुशनसीब है
कितना खुशनसीब है

झूमता है मेरा अंग अंग क्यूँ
अपनी रूह की सदा से पूछ लो
बज रहे है दिल में जल तरंग क्यूँ
गीत छेदती हवा से पूछ लो
बादलों में छुप
रहा है चाँद क्यूँ
हम्म अपने हुस्न की
जाया से पूछ लो
चाँदनी पड़ी हुयी
है मांड क्यूँ
अपने ही किसी ऐडा से पूछ लो.

Baadalon Mein Chup Song:

Leave a Comment