Chand Naraz Hai Lyrics – Abhi Dutt

Chand Naraz Hai Lyrics Hindi Song Sung by Abhi Dutt. this Song Music given by Vikram Montrose. Chand Naraz Hai Song lyrics by Azeem Shirazi. this Song Video Actor by Mohsin Khan, Jannat Zubair and this Song Video is Label by BLive Music.

NiC M1BHFoo HD 1 -

Song Credits:

Song:    Chand Naraz Hai
Singer:  Abhi Dutt
Music:   Vikram Montrose
Lyrics:   Azeem Shirazi
Cast:     Mohsin Khan, Jannat Zubair
Label:    BLive Music

Chand Naraz Hai Lyrics

Jis Subah Main Tujhe
Ik Nazar Dekh Loon
Sara Din Fir Mera
Achha Guzarta Hai

Har Kisi Ke Liye
Ye Dhadakta Nahi
Bas Tujhe Dekh Kar
Dil Dhadakta Hai

Meri Har Baat Mein
Zikar Tera Karoon
Teri Tareef Se
Chand Naraz Hai

Chand Naaraz Hai
Chand Naaraz Hai
Chand Naaraz Hai
Chand Naaraz Hai

Teri Parwah Karoon
Ya Karoon Chand Ki
Kya Karoon Main Agar
Chand Naraz Hai

Ishq Pehla Bhi Tu
Ishq Aakhir Bhi Tu
Tujhpe Dil Aa Gaya
Dil Dagabaaz Hai

Ek Feesad Bhi Wo
Tere Jaisa Nahi
Bas Yahi Soch Kar
Chand Naraz Hai

Chand Naaraz Hai
Chand Naaraz Hai
Chand Naaraz Hai
Chand Naaraz Hai

Haan Zaroorat Se Bhi Zyaada
Teri Zaroorat Hai
Tuhi Dil Ki Mere
Pehli Mohabbat Hai

Ishq Zyaada Se Bhi Zyaada
Tujhse Main Karta Hoon
Kuch Na Kuch Hai Wajah
Teri Hi Harkat Hai

Dil Mera Pal Mein
Har Faisla Kar Gaya
Bas Tujhko Dekha Fir
Tujhpe Mar Gaya

Dhadkano Ko Meri
Dil Sunata Hai Jo
Tujhko Malum Hai
Tu Wahi Saaj Hai

Chand Naaraz Hai
Chand Naaraz Hai
Dil Dagabaaz Hai
Chand Naaraz Hai

Teri Parwah Karoon
Ya Karoon Chand Ki
Kya Karoon Main Agar
Chand Naraz Hai

Ishq Pehla Bhi Tu
Ishq Aakhir Bhi Tu
Tujhpe Dil Aa Gaya
Dil Dagabaaz Hai

Ek Feesad Bhi Wo
Tere Jaisa Nahi
Bas Yahi Soch Kar
Chand Naraz Hai.

जिस सुबह में तुझे
इक नज़र देख लूँ
सारा दिन फिर मेरा
अच्छा गुजरता है

हर किसी के लिए ये धड़कता नहीं
बस तुझे देख कर ये धड़कता है

मेरी हर बात में
ज़िक्र तेरा करूँ
तेरी तारीफ़ से
चाँद नाराज़ है

चाँद नाराज़ है चाँद नाराज़ है
चाँद नाराज़ है चाँद नाराज़ है
चाँद नाराज़ है चाँद नाराज़ है

तेरी परवाह करूँ
या करूँ चाँद की
क्या करूँ में अगर
तेरी तारीफ़ से
चाँद नाराज़ है

इश्क़ पहला भी तू
इश्क़ आख़िर भी तू
तुझपे दिल आ गया
दिल दगा बाज़ है

एक फीसद भी वो
तेरे जैसा नहीं
बस यही सोच कर
चाँद नाराज़ है

चाँद नाराज़ है चाँद नाराज़ है
चाँद नाराज़ है चाँद नाराज़ है
चाँद नाराज़ है चाँद नाराज़ है

हाँ ज़रूरत से भी ज्यादा
तेरी ज़रूरत है
तू ही दिल की मेरे
पहली मोहब्बत है

इश्क़ ज़्यादा से भी ज़्यादा
तुझसे में करता हूँ
कुछ ना कुछ है वजह
तेरी ही हरकत है

दिल मेरा पल में
हर फैसला कर गया
बस तुझको देखा फिर
तुझपे मर गया

धड़कनो को मेरी
दिल सुनाता है जॉन
तुझको मालुम है
तू वही साज़ है

चाँद नाराज़ है चाँद नाराज़ है
दिल दगाबाज़ है चाँद नाराज़ है

तेरी परवाह करूँ
या करूँ चाँद की
क्या करूँ में अगर
चाँद नाराज़ है

इश्क़ पहला भी तू
इश्क़ आख़िर भी तू
तुझपे दिल आ गया
दिल दगा बाज़ है

एक फीसद भी वो
तेरे जैसा नहीं
बस यही सोच कर
चाँद नाराज़ है.

Chand Naraz Hai Song:

Leave a Comment