Jaam Vo Hai Jo Bhar Ke Lyrics – Sainik

Jaam Vo Hai Jo Bhar Ke Lyrics from ( Sainik ) Movie (1993) Song Sung by Kumar Sanu. this Song Music given by Nadeem Saifi, Shravan Rathod. Jaam Vo Hai Jo Bhar Ke Song lyrics by Sameer. this Song Video Actor by Akshay Kumar, Ashwini Bhave and this Video Song is Label by BMG Crescendo.

Jaam Vo Hai Jo Bhar Ke Lyrics - Sainik

Song Credits:

Movie:   Sainik (1993)
Song:    Jaam Vo Hai Jo Bhar Ke
Singer:  Kumar Sanu
Music:   Nadeem Saifi, Shravan Rathod
Lyrics:   Sameer
Cast:      Akshay Kumar, Ashwini Bhave
Label:    BMG Crescendo

Jaam Vo Hai Jo Bhar Ke Lyrics

Jaam woh hai jo bhar ke
Chhalakata hai chhalakata hai
Jaam woh hai jo bhar ke
Chhalakata hai chhalakata hai
Pyaar woh hai jo aankho se
Jhalakata hai jhalakata hai
Jaam woh hai jo bhar ke
Chhalakata hai chhalakata hai
Pyaar woh hai jo aankho se
Jhalakata hai jhalakata hai
Jaam woh hai jo bhar ke
Chhalakata hai chhalakata hai

Laharo ko kabhi na
Chhupa paayega samandar
Laharo ko kabhi na
Chhupa paayega samandar
Roshani kabhi na
Chhupegi  shama ke andar
Roshani kabhi na
Chhupegi shama ke andar
Chehara khaamosh
Aaine mein utar jaayega
Rang kushbu kaa havaao mein
Bikhar jaayega, ho bikhar jaayega
Phul woh hai jo khil ke
Mahakata hai mahakata hai
Phul woh hai jo khil ke
Mahakata hai mahakata hai
Pyaar woh hai jo aankho se
Jhalakata hai jhalakata hai
Jaam woh hai jo bhar ke
Chhalakata hai chhalakata hai

Pyaar ki chaahat ki nayi roshani dikhaane
Pyaar ki chaahat ki nayi roshani dikhaane
Aaya hu dilo se mein to nafarate mitaane
Aaya hu dilo se mein to nafarate mitaane
Saari duniya se toh ham dosti nibhaayenge
Pyaar kaa geet saari umrr
Gunagunaayenge ho gunagunaayenge
Saaj woh hai jo nagamo pe
Khanakata hai khanakata hai
Saaj woh hai jo nagamo pe
Khanakata hai khanakata hai
Pyaar woh hai jo aankho se
Jhalakata hai jhalakata hai
Jaam woh hai jo bhar ke
Chhalakata hai chhalakata hai
Pyaar woh hai jo aankho se
Jhalakata hai jhalakata hai
Jaam woh hai jo bhar ke
Chhalakata hai chhalakata hai.

जाम वह है जो भर के
छलकता है छलकता है
जाम वह है जो भर के
छलकता है छलकता है
प्यार वह है जो आँखों से
झलकता है झलकता है
जाम वह है जो भर के
छलकता है छलकता है
प्यार वह है जो आँखों से
झलकता है झलकता है
जाम वह है जो भर के
छलकता है छलकता है

लहरों को कभी न
छुपा पायेगा समंदर
लहरों को कभी न
छुपा पायेगा समंदर
रोशनी कभी न
छुपेगी  शमा के अंदर
रोशनी कभी न
छुपेगी शमा के अंदर
चेहरा खामोश
आईने में उतर जाएगा
रंग खुशबू का हवाओ में
बिखर जाएगा
फूल वह है जो खिल के
महकता है महकता है
फूल वह है जो खिल के
महकता है महकता है
प्यार वह है जो आँखों से
झलकता है झलकता है
जाम वह है जो भर के
छलकता है छलकता है

प्यार की चाहत की नयी रोशनी दिखाने
प्यार की चाहत की नयी रोशनी दिखाने
आया हु दिलो से में तो नफरते मिटाने
आया हु दिलो से में तो नफरते मिटाने
सारी दुनिया से तोह हम दोस्ती निभायेंगे
प्यार का गीत साड़ी उम्र्र
गुनगुनायेंगे हो गुनगुनायेंगे
साज वह है जो नगमो पे
खनकता है खनकता है
साज वह है जो नगमो पे
खनकता है खनकता है
प्यार वह है जो आँखों से
झलकता है झलकता है
जाम वह है जो भर के
छलकता है छलकता है
प्यार वह है जो आँखों से
झलकता है झलकता है
जाम वह है जो भर के
छलकता है छलकता है.

Jaam Vo Hai Jo Bhar Ke Song:

Leave a Comment