Kaise Mizaj Aap Ke Hai Lyrics – Kumar Sanu

Kaise Mizaj Aap Ke Hai Lyrics from ( Dil Hai Ke Manta Nahin ) Movie (1991) Song Sung by Anuradha Paudwal, Kumar Sanu. this Song Music given by Nadeem Saifi, Shravan Rathod. Kaise Mizaj Aap Ke Hai Song lyrics by Faaiz Anwar. this Song Video Actor by Aamir Khan, Pooja Bhatt and this Video Song is Label by T-Series.

Kaise Mizaj Aap Ke Hai Lyrics – Kumar Sanu

Kaise Mizaj Aap Ke Hai Lyrics - Kumar Sanu

Song Credits:

Movie:   Dil Hai Ki Manta Nahin (1991)
Song:    Kaise Mizaj Aap Ke Hai
Singer:  Anuradha Paudwal, Kumar Sanu
Music:   Nadeem Saifi, Shravan Rathod
Lyrics:   Faaiz Anwar
Cast:     Aamir Khan, Pooja Bhatt
Label:   T-Series

Kaise Mizaj Aap Ke Hai Song:

Kaise Mizaj Aap Ke Hai Lyrics (English)

Kaise mijaz aap ke hain farmaaiye
Kaise mijaz aap ke hain farmaaiye
Hum to hain khairiyat se apni sunaaiye
Kaise mijaz aap ke hain farmaaiye

Hum par kyun dil churane ka ilzaam rakh diya
Hum par kyun dil churane ka ilzaam rakh diya
Gar jhuth hai to mujhko mera dil lautaaiye
Gar jhuth hai to mujhko mera dil lautaaiye
Hum to hain khairiyat se apni sunaaiye
Kaise mijaz aap ke hain farmaaiye

Koi aate jaate milte milaate jo dekh le
Koi aate jaate milte milaate jo dekh le
Aisa hai to phir khwaabon mein tashreef laaiye
Aisa hai to phir khwaabon mein tashreef laaiye
Hum to hain khairiyat se apni sunaaiye
Kaise mijaz aap ke hain farmaaiye

Kaise yakin dilaaun ki tum meri jaan ho
Kaise yakin dilaaun ki tum meri jaan ho
Chhu kar ke mujhko aap zara qasam khaaiye
Chhu kar ke mujhko aap zara qasam khaaiye
Hum to hain khairiyat se apni sunaaiye
Kaise mijaz aap ke hain farmaaiye

Kaise mijaz aap ke hain farmaaiye.

Kaise Mizaj Aap Ke Hai Lyrics (Hindi)

कैसे मिजाज़ आप के हैं फ़रमाइये
कैसे मिजाज़ आप के हैं फ़रमाइये
हम तो हैं ख़ैरियत से अपनी सुनाइये
कैसे मिजाज़ आप के हैं फ़रमाइये

हम पर क्यों दिल चुराने का इलज़ाम रख दिया
हम पर क्यों दिल चुराने का इलज़ाम रख दिया
गर झूठ है तो मुझको मेरा दिल लौटाइये
गर झूठ है तो मुझको मेरा दिल लौटाइये
हम तो हैं ख़ैरियत से अपनी सुनाइये
कैसे मिजाज़ आप के हैं फ़रमाइये

कोई आते जाते मिलते मिलाते जो देख ले
कोई आते जाते मिलते मिलाते जो देख ले
ऐसा है तो फिर ख़्वाबों में तशरीफ़ लाइए
ऐसा है तो फिर ख़्वाबों में तशरीफ़ लाइए
हम तो हैं ख़ैरियत से अपनी सुनाइये
कैसे मिजाज़ आप के हैं फ़रमाइये

कैसे यकीन दिलाऊं कि तुम मेरी जान हो
कैसे यकीन दिलाऊं कि तुम मेरी जान हो
छू कर के मुझको आप ज़रा क़सम खाइए
छू कर के मुझको आप ज़रा क़सम खाइए
हम तो हैं ख़ैरियत से अपनी सुनाइये
कैसे मिजाज़ आप के हैं फ़रमाइये

कैसे मिजाज़ आप के हैं फ़रमाइये.

Leave a Comment