My Love Meri Priyatama Lyrics – Love

My Love Meri Priyatama Lyrics from ( Love ) Movie (1991) Song Sung by Chithra K S, S P Balasubramaniam. this Song Music given by Anand Shrivastav. My Love Meri Priyatama Song lyrics by Majrooh Sultanpuri. this Song Video Actor by Salman Khan, Shafi Inamdaar and this Video Song is Label by Venus Records.

My Love Meri Priyatama Lyrics – Love

My Love Meri Priyatama Lyrics - Love

Song Credits:

Movie:   Love (1991)
Song:    My Love Meri Priyatama
Singer:  Chithra K S, S P Balasubramaniam
Music:   Anand Shrivastav
Lyrics:   Majrooh Sultanpuri
Cast:     Salman Khan, Shafi Inamdaar
Label:    Venus Records

My Love Meri Priyatama Song:

My Love Meri Priyatama Lyrics

My love meri priyatama
Main hi meri priyatama
Kal tak tha main kaliyo ki dhul
Tune kiya aasman
Ahsan ka tere ye hain kamal
Ke ho gaya aaj main bemisal
Pathar tha main tere pyar ne
Pathar mein dali hain jaan

Damam mera aachal tera
Aise bandhe takdir se
Khulte nahin sato janam
Ab ye kisi tabdir se
Ab kaun hamko karega juda
Ke pyar hain aap apna khuda
Chahat to bas jeena jane
Marna kya hain ye kya jane
Tu ghum ka kar meri jan
Ahsan ka tere ye kamal
Ke ho gaya aaj main bemisal
Pathar tha main tere pyar ne
Pathar mein dali hain jaan

Mere liye mukh pe kabhi
Uljhe se bal bikhre nahi
Warna is andhiyare mein
Kho jaunga phir main kahi
Aasu ki ek boond teri kasam
Mujhko na hogi samundar se kam
Uski lahro mein phir janam
Dubega ye sara aalam
Main bhi bachunga kaha
Ahsan ka tere ye kamal
Ke ho gaya aaj main bemisal
Pathar tha main tere pyar ne
Pathar mein dali hai jan
My love meri priyatama
Main hi meri priyatama
Pathar tha main tere pyar ne
Pathar mein dali hai jaan.

My Love Meri Priyatama Lyrics

माय लव मेरी प्रियतमा
मैं ही मेरी प्रियतमा
कल तक था मैं कलियो की धूल
तूने किया आसमान
अहसान का तेरे ये हैं कमल
के हो गया आज मैं बेमिसाल
पत्थर था मैं तेरे प्यार ने
पत्थर में डाली हैं जान

दमाम मेरा आँचल तेरा
ऐसे बंधे तक़दीर से
खुलते नहीं सतो जनम
अब ये किसी तब्दीर से
अब कौन हम्को करेगा जुड़ा
के प्यार हैं आप अपना खुदा
चाहत तो बस जीना जाने
मरना क्या हैं ये क्या जाने
तू घुम का कर मेरी जान
अहसान का तेरे ये कमल
के हो गया आज मैं बेमिसाल
पत्थर था मैं तेरे प्यार ने
पत्थर में डाली हैं जान

मेरे लिए मुख पे कभी
उलझे से बाल बिखरे नहीं
वरना इस अंधियारे में
खो जाऊंगा फिर मैं कही
आँसू की एक बूँद तेरी कसम
मुझको न होगी समुन्दर से कम
उसकी लहरों में फिर जनम
डूबेगा ये सारा आलम
मैं भी बचूँगा कहा
अहसान का तेरे ये कमल
के हो गया आज मैं बेमिसाल
पत्थर था मैं तेरे प्यार ने
पत्थर में डाली है जान
माय लव मेरी प्रियतमा
मैं ही मेरी प्रियतमा
पत्थर था मैं तेरे प्यार ने
पत्थर में डाली है जान.

Leave a Comment